अब ई-आधार कि मदद से हो जाए चिंता मुक्त

अब आधार कार्ड को इस्तेमाल करना हुआ और भी आसान ई-आधार कार्ड के जरीये। जानी ये क्या है और इसके आने से हमे क्या लाभ होता है?

अब ई-आधार कि मदद से हो जाए चिंता मुक्त

ई-आधार कार्ड क्या है?

ई-आधार कार्ड हमारे आधार कार्ड की ही एक इलेक्ट्रॉनिक  कॉपी होती हैं। यह पासवर्ड सुर्राक्षत होती है तथा इसे UIDAI से वैद्य घोषित किया गया हैं। इसे हम अपने मोबाइल पर UIDAI कि official site से डाउनलोड कर के PDF के रुप मे रख सकते हैं। यह एक तरह से आपकी काल्पनिक आधार कार्ड हो गई। ई-आधार कार्ड आपकी जीवन को और आसान बनाती हैं। इसके कई फायदे हैं।

ई-आधार मे कौन-कौन सी जानकारी होती है?

ई-आधार मे नागरीको कि हर वो जानकारी उपलब्ध है जो आधार कार्ड मे होती है, जैसे की नाम, पता, फ़ोटो, लिंग, जन्म कि तारीक़, मोबाइल नम्बर, ई-मेल, संदर्भ आई-डी जिसमें आधार संख्या के अंतिम चार अंक होते हैं,डिजिटल हस्ताक्षरित कि हुई एक्सएमएल(XML)में समय स्टैम्प के साथ।

ई-आधार कार्ड के फायदे

ई-आधार कार्ड हमारे आधार कार्ड से जुड़े कामों को बहुत ही सरल बना देता हैं। इसके कई फ़ायदों के बारे में आज आपको पता चलेगा।निम्नलिखित ई-आधार के कुछ महत्वपूर्ण फायदे दिये गए है:

  1. ई-आधार एक काल्पनिक आधार कार्ड  होती है जो हमारे मोबाइल में PDF के रुप में होती है तो इसके गुम जाने कि या चोरी हो जाने कि संभावना ना के बराबर हैं।इसे कानूनी तरीके से डाउनलोड किया जाता है UIDAI के वेबसाइट पर से तथा इसमे कोई भी गैर-कानूनी या गलत काम शामिल नही है।यह पूरी तरह से सुरक्षित है।
  2. UIDAI हमारे निजी तथा आधार कार्ड कि जानकारी, दोनो का ही ध्यान रखता है इसलिए हमारा ई-आधार कार्ड पासवर्ड सुरक्षित होता है। पासवर्ड कि जरूरत मोबाइल में अपना ई-आधार खोलते वक्त पड़ती है।इसका पासवर्ड एक बड़े ही अलग तरीके से लिखा जाता है जिसमे पहले चार अक्षर मे आपका नाम होगा कैपिटल मे और फिर आपका जन्म का साल होगा।

            जैसे : अगर आपका नाम ANIL SINGH है

                    और आपका जन्म 1989 में हुआ था।

                   तो आपका पासवर्ड-ANIL1989 होगा।

  1. ई-आधार कार्ड हमारे आधार कार्ड कि ही एक इलेक्ट्रॉनिक कॉपी होती है इस वजह से हम अपने ई-आधार को हर उस जगह प्रयोग कर सकते है जहाँ आधार कार्ड कि जरूरत होती है जैसे कि गैस सब्सिडी में,पासपोर्ट बनाने वक्त या राशन लेने के लिए। कोई भी बैंक या सरकारी कार्यालय इसे लेने से अस्वीकार नही कर सकता।इसका इस्तेमाल हर जगह वैद्य है।
  2. ई-आधार मे आपको मैस्क्ट आधार कार्ड का विकल्प मिल जाता है जिससे आप अपने 12 अंक के आधार नम्बर के आगे के 8 अंक को छिपा सकते है XXXX से और बस आखिरी के 4 अंक ही दिखाई देंगे। इससे आपका आधार नम्बर आपके फोन मे और भी सुरक्षित रहेगा। 
  3. अपना ई-आधार आप भारत मे कही से भी प्राप्त कर सकते हैं। यह एक universal identity कार्ड है।

 ई-आधार कैसे प्राप्त करे ?

आप अपना ई-आधार UIDAI के official site पर जा कर आसानी से अपने मोबाइल पर डाउनलोड कर सकते है। सारी बायोमेट्रिक तथा डेमग्रैफिक(जन्म-मृत्यु के आंकड़ों से संबंधित) डाटा के वेरीफाई हो जाने के बाद आप अपना ई- आधार डाउनलोड कर सकते हैं । इसमे न तो ज्यादा समय लगता है न ही ज्यादा झंझट है। यह आसान तथा सुरक्षित है। यह PDF के रुप मे आपके मोबाइल मे हमेशा के लिए रहेगा।

Leave a Comment